स्कूल जाने का उद्देश्य क्या है?

स्कूल जाने का मुख्य उद्देश्य ऐसी शिक्षा प्राप्त करना है जो एक व्यक्ति को उसके जीवन के हर चरण में मदद करे। हर दिन जब कोई छात्र स्कूल जाता है, तो उसे कुछ नया सीखने का अवसर मिलता है जो उसकी या किसी और की जिंदगी बदल सकता है। जब कोई व्यक्ति शिक्षा प्राप्त करता है, तो वह अन्य लोगों को भी पढ़ा सकता है और अपने बच्चों को भी शिक्षित कर सकता है।



एसोसिएशन फॉर सुपरविजन एंड करिकुलम डेवलपमेंट के अनुसार, समाज की वर्तमान जरूरतों को पूरा करने के लिए स्कूल जाने का उद्देश्य पीढ़ियों से विकसित हुआ है। आधुनिक समय में, एक अच्छी शिक्षा कई लोगों के लिए बेहतर नौकरी और उच्च जीवन स्तर की कुंजी है। स्कूल जाना एक व्यक्ति को अर्जित ज्ञान का उपयोग करके समस्याओं को हल करने के लिए तैयार करता है, और यह व्यक्ति को अपनी पसंद के किसी भी करियर को आगे बढ़ाने की अनुमति देता है।

एक छात्र जिस देश में रहता है, उसके आधार पर स्कूल जाने का महत्व अलग-अलग होता है।

संयुक्त राज्य अमेरिका में, शिक्षा का मुख्य महत्व है; बच्चों का स्कूल नहीं जाना कानून के खिलाफ है। यदि स्कूली उम्र का बच्चा या किशोर नियमित रूप से स्कूल नहीं जाता है, तो माता-पिता पर जुर्माना लगाया जा सकता है या जेल भेजा जा सकता है, और अपराधी छात्र को किशोर सुविधा में भेजा जा सकता है। अविकसित देशों में, स्कूल जाने का उतना महत्व नहीं है। कई विदेशी देशों में, छात्र अपने धर्म, लिंग या किसी शैक्षणिक संस्थान तक पहुंच की कमी के कारण स्कूल नहीं जा पाते हैं।