एक इंद्रधनुष क्या प्रतीक है?

पैट्रिक फोटो / पल / गेट्टी छवियां

इंद्रधनुष एक प्राकृतिक घटना है जो बारिश के बाद होती है, और वे शांति और पुनर्जन्म का प्रतीक हैं। वैज्ञानिक रूप से, इंद्रधनुष पानी के खिलाफ प्रकाश को प्रतिबिंबित करने के कारण होता है, लेकिन आध्यात्मिक और आध्यात्मिक रूप से वे पूरी तरह से अलग अर्थ लेते हैं, और उन्हें अक्सर ग्रीक पौराणिक कथाओं, बाइबिल और आध्यात्मिक लेखन में संदर्भित किया जाता है। इंद्रधनुष के सबसे अधिक दिखाई देने वाले रंगों में लाल, पीला, नीला और बैंगनी शामिल हैं, जो एक सुंदर दृश्य दृश्य बनाते हैं।



जूदेव-ईसाई परंपराओं में, एक इंद्रधनुष की उपस्थिति को एक संकेत माना जाता है कि भगवान एक और बाढ़ के साथ पृथ्वी को नष्ट करने की योजना नहीं बना रहे हैं। इंद्रधनुष को भी भाग्यशाली माना जाता है, और पारंपरिक आयरिश कहानियां अक्सर इंद्रधनुष के अंत में 'सोने के बर्तन' का उल्लेख करती हैं। बौद्ध परंपरा इंद्रधनुष को सर्वोच्च आध्यात्मिक विमान मानती है जो दूसरी तरफ जाने से पहले पहुंच सकता है, और अर्मेनियाई पौराणिक कथाओं में कहा गया है कि इंद्रधनुष सूर्य देवता का है। इंद्रधनुष को भी अक्सर 'ऊपर' से एक संकेत माना जाता है, खासकर जब वे धूप, बारिश से मुक्त दिन पर दिखाई देते हैं। हालांकि, अन्य संस्कृतियों में, इंद्रधनुष को एक अपशकुन माना जाता है। बुल्गारिया में, प्राचीन विद्या कहती है कि यदि कोई इंद्रधनुष के नीचे चलता है, तो उनका लिंग बदल जाता है, और बर्मा में, सदियों पुरानी किंवदंतियों का दावा है कि इंद्रधनुष वास्तव में एक शैतानी राक्षस है।